Nurse Kaise Bane | नर्स कैसे बने | नर्स किसे कहते हैं

Nurse Kaise Bane | नर्स कैसे बने

Nurse Kaise Bane | नर्स कैसे बने जैसे डॉक्टर को भगवान का दूसरा रूप कहा जाता है वैसे ही नर्स भी भगवान के ही समकक्ष है क्योंकि बिना नर्स के डॉक्टर भी इलाज नहीं कर पाएगा। नर्स डॉक्टर की सहायक होती है और किसी भी ऑपरेशन को करने में डॉक्टर की सहायता करती है। एक नर्स किसी भी ऑपरेशन को करने से पहले उसमें लगने वाले सामानों की देखभाल और तैयारी करती है।

मेडिकल सर्विस में नर्स का डॉक्टर की तरह ही अहम रोल होता है। हॉस्पिटल में डॉक्टर के साथ नर्स को भी काफी सम्मान दिया जाता है कयोंकि नर्स पर ही मरीजों की सेवा करने का जिम्मा होता है। अगर आप भी नर्स बन कर मानव सेवा करना चाहते हैं और साथ ही इसमें अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आज हमारे इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें क्योंकि आज के इस आर्टिकल में हम आपको “नर्स कैसे बने” इसके बारे में पूरी जानकारी विस्तार से देने वाले हैं, तो चलिए शुरू करते हैं।

Nurse kaise bane

नर्स किसे कहते हैं | Who is called nurse

अगर हम सामान्य भाषा में कहें तो नर्स उसे कहते हैं जो बीमार मरीजों की सेवा करती है। रोगी का इलाज तो डॉक्टर करता है परंतु रोगी की देखभाल नर्स करती है जो कि एक जिम्मेदारी का काम होता है। नर्स का हिंदी में मतलब होता है पोषण।नर्स एक अंग्रेजी भाषा का शब्द है।वह नारी जो शिशुओं का पोषण करती है, उसे नर्स कहा जाता है।माँ भी एक प्रकार से नर्स है. नर्स वह पुरुष भी है, जो शिशुओं और रोगियों का देखभाल करता है। यानी नर्स स्त्री और पुरुष दोनों हो सकते है।

नर्स कैसे बने| How to become a nurse

नर्सिंग के क्षेत्र में अनेक प्रकार के कोर्स होते हैं जैसे डिग्री, डिप्लोमा, अंडर ग्रेजुएट एवं सर्टिफिकेट। इसमें छात्र अपनी योग्यता और इंटरेस्ट के हिसाब से कोर्स का चुनाव कर सकते हैं। नर्सिंग से सम्बंधित कोर्स इस प्रकार है।

  • बीएससी नर्सिंग (B.Sc नर्सिंग)
  • जीएनएम (General Nursing and Midwifery)
  • एएनएम ( Auxiliary Nurse Midwife/ health Worker )
  • बीएससी इन नर्सिंग डिग्री कोर्स|BSc in Nursing Degree Course |

बीएससी नर्सिंग एक ग्रेजुएट डिग्री कोर्स है। इस कोर्स को आप प्राइवेट और सरकारी दोनों ही तरह के संस्थान से कर सकती है।प्राइवेट संस्थानों में फीस कुछ ज्यादा होती है लेकिन यहाँ आपको परसेंटेज के हिसाब से डायरेक्ट दाखिला मिल जाता है।सरकारी कॉलेज से कोर्स करने के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती है जिसमे सफल अभियार्थियो को उनके नंबर्स के आधार पर दाखिला मिलता है।

जो अभ्यर्थी बीएससी नर्सिंग का कोर्स करना चाहता है उसे 12वीं कक्षा में रसायन और बायोलोजी विषय के साथ कम से कम 50% अंक लाना अनिवार्य है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस कोर्स की सरकारी कॉलेज की फीस लगभग ₹30000 है और प्राइवेट कॉलेज की फीस लगभग ₹100000 है।

जीएनएम कोर्स| GNM course

जीएनएम कोर्स करने के लिए आपको 12वीं कक्षा भौतिकी, रासयान और जीवविज्ञान (PCB) में उत्तीर्ण करनी होगी।बारहवीं में कम से कम 40%- 50% अंक होना चाहिए।
अभ्यर्थी की उम्र 17 से 35 वर्ष के बीच होना चाहिए।ये कोर्स महिला और पुरुष दोनों कर सकते हैं।यह कोर्स तीन वर्ष का होता है।इसका पााठ्यक्रम कम्पलीट होनें के बाद आपको रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट प्राप्त होता है।जीएनएम का फुल फॉर्म जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी होता है, इस कोर्स को छात्र और छात्राए दोनों कर सकते है।

सरकारी कॉलेज में इस कोर्स की फीस 30,000 रुपये है और निजी कॉलेज में लगभग एक लाख रुपये। GNM Course करने के बाद आप किसी भी प्राइवेट हॉस्पिटल में नर्स का काम कर सकते हैं या सरकारी हॉस्पिटल में नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

ये भी पढ़े : 

एएनएम कोर्स| ANM Course | नर्स कैसे बने

ANM कोर्स करने के लिए उम्मीदवार को बारहवीं कक्षा (विज्ञान या कला संकाय/Science/ Arts) में उत्तीर्ण होना चाहिए।
10+2 में कम से कम 40% से 50% अंक होना चाहिए।उम्मीदवार की न्यूनतम उम्र 17 वर्ष और अधिकतम उम्र 35 वर्ष होना चाहिए।इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए Entrance Exam देना होता है।यह कोर्स केवल छात्राओं/लड़कियों के लिए है।ए.एन.एम की फुल फॉर्म सहायक नर्स मिडवाइफ होता है।इस डिप्लोमा कोर्स में छात्र को इलाज के दौरान उपयोग होनें वाले उपकरणों  के रखरखाब और उनको उपयोग करने की जानकारी दी जाती है।

एएनएम कोर्स का फीस सरकारी कॉलेज में 3000 से 4000 रुपये के बीच है,वही निजी संस्थानों में 10000 रुपये है।इस कोर्स को करने के बाद आप किसी भी प्राइवेट हॉस्पिटल या राज्य सरकार द्वारा चलाये गए स्वास्थ्य देखभाल केंद्र में सहायक के रूप में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

नर्स बनने के लिए आयु सीमा| Age limit for becoming a nurse

जो अभ्यर्थी नर्स बनना चाहती है उसकी आयु 18 साल से लेकर 35 साल के बीच होनी चाहिए।

नर्सिंग में रोजगार के अवसर| Nursing employment opportunities

राज्य सरकार द्वारा संचालित सरकारी अस्पतालों और निजी अस्पतालों में नर्स का काम कर सकते है।

इसके अलावा स्पेशल क्लिनिक व केयर सेंटर में।

स्कूल हेल्थ नर्सेस

इंडस्ट्रियल नर्स और आर्म्ड फोर्सेस नर्स, कम्युनिटी हेल्थ नर्सेस आदि संस्थानों में नर्स की नौकरी पा सकते हैं।

साथ ही आप किसी नर्सिंग कॉलेज में  नर्सिंग टीचर के रूप में नर्सिंग शिक्षण का काम कर सकती हैं।

भारत के टॉप नर्सिंग कॉलेज|Top Nursing Colleges in India

  • बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी (BHU)
  • आल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज, नयी दिल्ली  (AIIMS)
  • क्रिस्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर (CMC)
  • आर्म्ड फोर्सेस मेडिकल कॉलेज, पुणे (AFMC)
  • जवाहरलाल इंस्टिट्यूट ऑफ़ पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, पांडिचेरी (JIPMER)

नर्स की सैलरी| Salary of Nurse | नर्स कैसे बने

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नर्स को जब जॉब मिलती है तब उसकी शुरुआती सैलरी महीने की 7000 से लेकर 15000 के बीच होती है और जैसे-जैसे उसका नर्सिंग के क्षेत्र में अनुभव बढ़ता जाता है वैसे वैसे उसकी सैलरी में भी वृद्धि होने लगती है। एक अनुभवी नर्स को महीने की 30000 से लेकर 40000 तक की सैलरी भी मिलती है। आशा करता हु आपको ये पोस्ट Nurse kaise Bane पसंद आयी होगी

Leave a Comment

error: Content is protected !!
2 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap